रविवार, 28 अप्रैल 2013

:)


       मस्जिद  के ज़ेरे साया  एक घर बना लिया है 
            ये बन्दा -ए -कमीना , हमसाया-ए  खुदा है ......

                        

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

शुक्रिया, साथ बना रहे …।